हमारी खराब जीवनशैली और जीवन में आगे रहने की होड़ में तनाव और चिंता जैसी समस्याएं बन गई हैं। आयुर्वेद के मुताबिक, तनाव मनोवैज्ञानिक विकार है जिसके कई कारण होते हैं। हम दिन प्रतिदिन अलग-अलग मुद्दों स्वास्थ्य समस्याओं, कार्यालय के काम या किसी तरह की भावनात्मक उथल-पुथल के कारण चिंतित महसूस कर सकते हैं। तनाव व्‍यक्ति में एलर्जी, अस्थमा, उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप को बढ़ा सकती हैं। यह किसी व्यक्ति की प्रकृति के आधार पर शरीर में वात, पित्‍त, कफ की असंतुलन का कारण बन सकता है।

आयुर्वेद प्राकृतिक जड़ी बूटी की मदद से उपचार की एक अद्भुत प्राचीन प्रणाली के रूप में माना जाता है। जड़ी बूटियों की अंतर्निहित शक्ति को प्राकृतिक और स्वस्थ तरीके से रोगों को दूर करने में मदद करती है। आज हम आपको 5 ऐसी आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे आपका तनाव दूर होगा साथ ही दिमाग को शांत भी करेंगी।

ब्राम्‍ही

ब्रह्मी तनाव को कम करने के लिए जाने जाते हैं। यह तनाव हार्मोन (कोर्टिसोल) के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। यह जड़ी बूटी तनाव प्रतिक्रिया से जुड़े हार्मोन को विनियमित करके तनाव के प्रभावों का सामना करती है। यह आपके एकाग्रता शक्ति को और बढ़ाता है, तंत्रिका तंत्र पर एक सुखद प्रभाव छोड़कर मस्तिष्क कोशिकाओं को पुनरुत्थान करता है।

जटामासी

जाटामासी या स्पाइकनार्ड तनाव को खत्‍म करने और थकान को दूर करने वाली जड़ी बूटी है। जटामासी की जड़ें पौधे के प्राथमिक औषधीय भाग हैं जिनके तनावग्रस्त दिमाग पर चिकित्सकीय प्रभाव पड़ते हैं। ये जड़ें हमारे दिमाग और शरीर को विषाक्त पदार्थों और अवरोधों से मुक्त रखती हैं और आगे स्थिरता की भावना के रूप में प्रदान करती हैं, जिससे आपके मस्तिष्क को ठीक से काम करने की इजाजत मिलती है।

भृंगराज

भिंगराज चाय शरीर को detoxifying और अपने मस्तिष्क को लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति और रक्त परिसंचरण में वृद्धि करने में मदद करता है। चाय के शांत प्रभाव से आपका दिमाग भी शांत होता है और शरीर को आराम मिलता है।

अश्‍वगंधा

अश्वगंध, जो एमिनो एसिड और विटामिन का संयोजन है, एक अनुकूलन के रूप में कार्य करता है जो शरीर को तनावपूर्ण परिस्थितियों में अनुकूलित करने में मदद करता है। इसके अलावा ऊर्जा, सहनशक्ति और धैर्य शक्ति को आगे बढ़ाता है। यह अच्‍छी नींद को भी बढ़ावा देता है और शरीर में ऊर्जा को संतुलित करता है। अश्‍वगंधा अनिद्रा का इलाज करने में मदद करता है।

बचा

इस जड़ी बूटी की जादुई जड़ में विभिन्न मानसिक विकारों से राहत दिलाता है। इसकी शांत गुण आपको बेहतर नींद में मदद करते हैं और एक चिंतित मन को शांत करते हैं। यह स्मृति शक्ति को बढ़ाने और सुधारने के लिए भी जाना जाता है। बचा को स्‍वीट फ्लैग भी कहते हैं।

इन बातों का रखें ध्‍यान

अगर आप तनाव से परेशान हैं तो बेशक इन औषधियों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। हालांकि इससे पहले चिकित्‍सकीय परामर्श जरूर ले लें। इसके अलावा तनाव को दूर करने के लिए जरूरी है कि आप अपनी जीवनशैली को बेहतर बनाएं। संतुलित आहार और नियमित व्‍यायाम इस समस्‍या से काफी हद तक छुटकारा दिला सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here